Best Quotes in Hindi

By | 29th March 2017

हमारे विचार ही हमारे जीवन का निर्माण करते है।  तो यहाँ मैंने कुछ जीवन में सकारात्मक बदलाव ला सकने वाले कुछ महान व्यक्तियों के विचार आपके लिए एकत्रित किये है।

 

“सफलता का रहस्य ध्येय की दृढ़ता में है। “

-अज्ञात 

 

“जो भी मनुष्य अहंकार करता है, उसका एक-न-एक  दिन पतन अवश्य ही होगा।”

-महर्षि दयानंद सरस्वती 

 

“अहंकारी व्यक्ति समस्त गलतियों की तह में होता है।”

-रस्किन 

 

“आत्मा को अविनाशी न मानकर यदि तुम उसे विनाशवान मानते हो, तो तुम्हारे दुःखी होने का कोई कारण नही है।”

-भगवत गीता 

 

“मनुष्य में जैसे विचार उत्पन्न होते है , वैसे ही वह काम कर सकता है।”  

-महर्षि अरविन्द

 

“आत्मानुभव जीवन की अमूल्य कसौटी है।”  

– रवीन्द्रनाथ टैगोर 

 

“यदि तुममें राई के दाने के बराबर भी आत्मविश्वास है , तो तुम्हारे लिए कोई कार्य असंभव नहीं है।”

 – महात्मा गाँधी 

 

“आत्मविश्वास बढ़ने की रीति यह है की वह काम करो , जिसे करते हुए तुम डरते न हो। इस प्रकार ज्यों-ज्यों तुम्हें सफलता मिलती जाएगी , तुम्हारा आत्मविश्वास बढ़ता जायेगा।”    

– डेल कारनेगी 

 

“जिसका आत्मबल पर विश्वास है , उसकी हार नहीं होती , क्योंकि आत्मबल की पराकाष्ठा का अर्थ है मरने की तैयारी।”

-महात्मा गाँधी 

 

“जो ईश्वर पर विश्वास करता है , उसी में आत्मविश्वास है ,नास्तिक में आत्मशक्ति नहीं होती है।”  

-भगवतीशरण वर्मा 

 

“हमें सबसे पहले आत्मसम्मान की रक्षा करनी चाहिए।  हम कायर और दब्बू नही बन सकते।  ऐसे प्राणियों को तो स्वर्ग में भी सुख नहीं प्राप्त होता।”  

-प्रेमचंद्र 

 

“फल मनुष्य के कर्म के अधीन है। बुद्धि कर्म के अनुसार आगे  बढ़ने वाली है , तथापि विद्वान और महात्मा लोग अच्छी तरह से विचार करके ही कोई कर्म करते है।”  

-चाणक्य 

 

“हर वर्ष एक बुरी आदत को मूल से खोद कर फेंका जाये तो कुछ ही वर्षों  में  बुरे-से-बुरा व्यक्ति भी भला हो सकता है।”  

-सुकरात 

 

“जो आदर्श सत्य की हत्या करके पला हो , वह आदर्श नही, चरित्र की दुर्बलता है।”  

-प्रेमचंद्र 

 

“जो महापुरुष हैं वे संसार को ज्ञान को अपने माहात्म्य से ही ग्रहण करने के बाद अपने जीवन में उतार कर जगत में उसकी सच्चाई का प्रकाश चमका देते हैं।”      

-रविंद्रनाथ ठाकुर 

 

“जिसके पास उम्मीद है , वह लाख बार हार कर भी नहीं हारता।”  

-रघुवीरशरण ‘मित्र’

 

“आशा उत्साह की जननी है ,आशा में तेज़ है , जीवन है। आशा ही संसार की संचालन शक्ति है।”  

-प्रेमचंद्र 

 

“शारीरिक क्षमता से ताकत नहीं आती , यह तो अदम्य इच्छाशक्ति से आती है।”  

-महात्मा गाँधी 

 

“ईर्ष्या अपनी हीनता के बोध में से जन्म लेती है और वह उस हीनता को दूर नही करती , सिर्फ दबाती है।”  

-जैनेन्द्र कुमार 

 

“उत्साह आदमी की मान्यशीलता का पैमाना है।”  

-तिरुवल्लुवर 

 

“ऊर्जा और दृढ़ लगन सभी चीज़ों को बदल देती है।”    

 -बेन्जामिन फ्रैंकलिन 

 

“कर्तव्य का पालन ही चित्त की शांति का मूल मंत्र है।”  

-प्रेमचंद्र 

 

“क्रोध का हमें तभी पता चलता है , जब हम कर चुके होते हैं।”    

-ओशो 

 

“चरित्र का जो मूल्य है , वह और किसी वस्तु का नहीं।”    

-प्रेमचंद्र 

 

“चिंता एक काली दीवार की भांति चारों ओर से घेर लेती है, जिसमें से निकलने की फिर कोई गली नही सूझती।”

-प्रेमचंद्र 

 

“दृढ़ संकल्प एक गढ़ के समान है जो हमें भयंकर प्रलोभन से बचाता है।”  

-महात्मा गाँधी 

 

“रोगों का प्रमुख आधार तनाव है।  तनाव द्वारा मन और मन द्वारा शरीर प्रभावित  है।”  

 -स्वामी विवेकानंद 

इन विचारो (Quotes) को लेकर कोई सुझाव हो तो नीचे comment करना ना भूले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *